विचार

कोरोना कब रोक सकेगा …

रोज़ बढे़ंगे- रोज़ बढ़ेंगे, हम अविराम- हम अविराम. प्राप्त करेंगे- प्राप्त करेंगे, सब परिणाम- सब परिणाम. इस अदृश्य ताकत से भी हम, टकरायेंगे जी भरकर. निकट समय में खुशी पताका, फहरायेंगे जी भरकर. साथ सहेंगे- साथ सहेंगे, हर अंजाम- हर अंजाम. प्राप्त करेंगे… मानव ने कर्मठता- बल पर, काम अनोखे कर डाले. दानव सी बीमारी […]

विचार

कोरोना को हार मिलेगी…

सब कुछ होगा ठीक एक दिन मन में ये विश्वास रखें. कोरोना को हार मिलेगी, ह्रदयों में आभास रखें. अपना- अपना काम करें हम. व्यस्त रहें ये सोचें हम. करें सार्थक कुछ ना कुछ सब. कोरोना को भूलें हम. जैसे भी संभव हो पाये. औरों का हित कर दें हम. इतना ना जप कोरोना को, […]

विचार

तू हार मानकर ही, मानेगा कोरोना

सौगंध उठाते हैं, हारेगा कोरोना. तू हार मानकर ही, मानेगा कोरोना. हर बीमारी भागी, इस मानव के आगे. हर रोग वायरस सब, हरदम ही हैं भागे. पापों की गठरी ले, भागेगा कोरोना. सौगंध… चलता था सब सुखमय, मानव का पृथ्वी पर. हर बुरी बात लाया, दानव सा धरती पर. करनी का फल निश्चित, पायेगा कोरोना. […]

विचार

कोरोना को जाने दो…

हर घर खुशियां छाने दो. कोरोना को जाने दो. कितनी गाली खाता है फिर भी दूर न जाता है. सारे तुझको बुरा कहें फिर भी भू पर छाता है. नहीं बुलाया लेकिन तू बेशर्मी से आता है. उल्टी बातें सुनना ही शायद तुझको भाता है. झूठा- कपटी कोरोना राग गमों के गाता है. हंसी लवों […]

विचार

लड़ो कोरोना से…

आपस में ना लड़ो, लड़ो कोरोना से. बस मिलजुलकर रहो, लड़ो कोरोना से. इसकी कमियां, उसकी कमियां नहीं निकालो. खुद भी संभलो और सभी को आज संभालो. काम यही बस करो, लड़ो कोरोना से. लड़ो कोरोना से… उलट- पुलट कर दुनिया रख दी कोरोना ने. अर्थव्यवस्था ढीली कर दी कोरोना ने. मात्र मदद को बढ़ो, […]

देश

पहले कोरोना से लड़ लो…

तकरार बाद में कर लेना पहले कोरोना से लड़ लो. ये राजनीति फिर कर लेना, पहले कोरोना से लड़ लो… ये दुश्मन है अदृश्य यम सा जो नहीं दिखाई देता है. किस ताकत के बलबूते ये कुछ नहीं सुनाई देता है. तू-तू, मैं-मैं कल कर लेना, पहले कोरोना से लड़ लो… आशा- विश्वास बताते हैं […]