पंजाब

जालन्धर के वार्ड नं 51 की मौजूदा कंग्रेस पार्टी की पार्षद राधिका पाठक, उनके पति व बेटे पर लगे धोखाधड़ी के आरोप

जालंधर : जालंधर के पंजाब प्रेस क्लब में रेखा पाठक ने प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि जालंधर के वार्ड नंबर 51 की निगम पार्षद राधिआका पाठक व उसके पति अनूप पाठक व पुत्र कर्ण पाठक के अपराधिक षड्यंत्र के तहत गैरकानूनी व अवैधानिक रूप से जमीनों पर कब्जे करने और डरा धमकाकर व मारपीट करके प्रॉपर्टी पर कब्जा करने के संबंध मैं वह प्रेस वार्ता करने आई है।

आगे राधिका पाठक ने पत्रकारों को बताया कि पिछले साल सितंबर माह में अनूप पाठक व राधिका पाठक ने उन पर दबाव डालकर कई कागजों पर हस्ताक्षर करवा लिए थे पहले तो उन्हें राधिका पाठक व अनूप पाठक के अपराधिक षड्यंत्र की जानकारी नहीं थी उन कागजों में अनूप पाठक ने रेखा पाठक के पति स्वर्गीय श्री मनोज पाठक के दादा स्वर्गीय सीताराम पाठक जी की नकली रसीद बनाकर उनके हिस्से की प्रॉपर्टी पर कब्जा करने की साजिश की थी जिसके बारे में जानकर उन्हें (रेखा पाठक) को बहुत अचंभा हुआ था इस संबंध में रेखा पाठक ने डीसीपी को दिनांक 18/01/2019 को शिकायत भी की थी।

आगे रेखा पाठक ने प्रेस वार्ता मे बताया कि उनकी शिकायत पर भी कोई कार्यवाही अभी तक पुलिस द्वारा नहीं की गई। इसके अलावा राधिका पाठक व अनूप पाठक ने उनसे(रेखा पाठक) ओर भी कागजों पर हस्ताक्षर करवाए थे, उन कागजों पर उन्होंने(राधिका पाठक व अनूप पाठक) पंडित सीताराम पाठक की जाली वसीयत बनाकर मॉडल टाउन जालंधर में प्लॉट नंबर 318 पर जाली कागजों के आधार पर जबरदस्ती अवैध रूप से कब्जा करना चाहते थे।

आगे प्रेस वार्ता में रेखा पाठक ने कहा कि जाली कागजातओं के आधार पर उनसे जबरदस्ती कुछ कागजों पर हस्ताक्षर भी करवाए थे और जब उन्हें(रेखा पाठक) को इस बारे में पता चला तो उन्होंने इसका विरोध करना चाहा, तो राधिका पाठक व उसके पति अनूप पाठक ने उन्हें मुंह ना खोलने या किसी से भी इस बारे में बात करने पर झूठे केस में फंसाने और बुरे परिणाम भुगतने की धमकी दी

आगे रखा पाठक कहती है कि इतना ही नहीं दिनांक 20/12/2018 को इन लोगों ने मुझे(रेखा पाठक) जबरदस्ती साथ लेकर रजिस्ट्री करवाने का भी दबाव बनाया लेकिन रेखा पाठक ने साफ इंकार कर दिया और उनके खिलाफ पुलिस में शिकायत करने की बात कहीं तब उन्होंने रेखा पाठक का नाम हटा दिया और उनके स्थान पर उनकी सास निर्मल पाठक को गवाह बना कर अपराधिक व गैर कानूनी तरीके से अनुपम पाठक ने किसी अन्य व्यक्ति की जमीन को अपने नाम करवा लिया।

पंडित सीताराम पाठक की मृत्यु सन 2006 में हो गई थी जबकि यह सभी कागज उनकी मृत्यु के करीब 13 साल बाद मेरे सामने जाली तौर पर बनाकर उनकी संपत्ति को अपने नाम करवा लिया गया अनूप पाठक व उसके पुत्र कर्ण पाठक ने जालंधर में मिलाप चौक पर गैरकानूनी व अवैध रूप से किसी की दुकान पर भी कब्जा किया है।

जिस कारण अनूप पाठक के खिलाफ एक आपराधिक मुकदमा भी दर्ज करवाया गया है जो एक एनआरआई महिला द्वारा दर्ज कराया गया है जो उस जमीन की माल मालिक है।

आगे रेखा पाठक पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताती हैं कि इन सब बातों से यह साफ पता चलता है कि उन के ससुराल वाले अपराधिक प्रवृत्ति के हैं और जालसाजी से लोगों व सरकारी भूमि पर अवैध रूप से कब्जा करके उन्हें अपने नाम करवाते हैं आगे राखी पाठक ने बताया कि उन्होंने इस मामले को वह पार्टी फोरम में उठायेंगी ताकि पार्टी इस पर अभिलंब व उचित कानूनी कार्रवाई करें ताकि इन लोगों के कुरीतियों के कारण देश की सबसे पुरानी वरिष्ठ पार्टी की प्रतिष्ठा पर कोई भी दाग न लग पाए।

आगे रेखा पाठक ने मीडिया के माध्यम से प्रशासन से गुहार लगाई कि उनकी दी हुई दरखास्त पर जल्द से जल्द उचित कार्यवाही हो और उन्हें जल्द से जल्द इंसाफ दिया जाए।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *