देश

रिश्वत ले रहा था डीआरएम, सीबीआई ने रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया, 5 और अधिकारियों को भी किया गिरफ्तार, पढ़ें क्या है पूरा मामला?

Share now

नीरज सिसौदिया, नई दिल्ली
केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने निविदाओं में लाभ पहुंचाने के लिए 11 लाख रुपये की कथित रिश्वतखोरी के मामले में दक्षिण मध्य रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) और पांच अन्य अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि गुंतकल मंडल के डीआरएम विनीत सिंह के अलावा जांच एजेंसी ने वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक (डीएफएम) कुंडा प्रदीप बाबू, वरिष्ठ मंडल अभियंता (डीईएन) समन्वय यू अक्की रेड्डी, कार्यालय अधीक्षक एम बालाजी और लेखा सहायक डी लक्ष्मी पति राजू को गिरफ्तार किया है। बेंगलुरु स्थित कंपनी सी एन आर प्रोजेक्ट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक कुप्पम रमेशकुमार रेड्डी और हैदराबाद स्थित बिचौलिए एन रहमतुल्ला को भी सीबीआई ने हिरासत में लिया। जांच के तहत सीबीआई ने गुंतकल, अनंतपुर, नेल्लोर, तिरुपति, हैदराबाद, सिकंदराबाद और बेंगलुरु में छापेमारी की, जिसमें कई दस्तावेज और डिजिटल उपकरण बरामद हुए। मामले में जांच जारी है। संघीय जांच एजेंसी ने दक्षिण मध्य रेलवे के गुंतकल मंडल में निविदाएं आवंटित करने में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के लिए गिरफ्तार किए गए सात लोगों सहित 13 व्यक्तियों और कंपनी सी एन आर प्रोजेक्ट्स के खिलाफ मामला दर्ज किया है। अधिकारियों ने बताया कि अधिकारियों ने विभिन्न निविदाएं आवंटित करने, आवंटित कार्यों के निष्पादन और बिल को शीघ्र मंजूरी के संबंध में कथित रूप से अनुचित लाभ प्राप्त किया। सीबीआई प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, ‘‘यह भी आरोप लगाया गया है कि आरोपी लोक सेवक अपने अधिकार क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न निविदाएं देने तथा ठेकेदारों के बढ़े हुए बिल का भुगतान करने में भ्रष्ट आचरण में लिप्त रहे हैं, जिससे उन्हें गलत लाभ हुआ तथा सरकारी खजाने को गलत नुकसान हुआ।” उन्होंने बताया कि यह भी आरोप है कि डीआरएम विनीत सिंह ने निविदा की कुल राशि का 0.5 प्रतिशत सोने के आभूषण के रूप में अवैध रिश्वत की मांग की थी। उन्होंने बताया कि तत्कालीन वरिष्ठ डीईएन समन्वय ने कथित तौर पर 20 लाख रुपये की मांग की थी। प्रवक्ता ने बताया कि छापेमारी के दौरान वरिष्ठ डीएफएम को दिए गए 10 लाख रुपये तथा कार्यालय अधीक्षक और एक अन्य लेखा सहायक को दिए गए 50-50 हजार रुपये बरामद कर लिए गए।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *