पंजाब

पंचतत्व में विलीन हुए अटल, दत्तक पुत्री नमिता ने दी मुखाग्नि

नई दिल्ली। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी शुक्रवार शाम पंचतत्व में विलीन हो गए। दिल्ली के स्मृति स्थल पर राष्ट्र ने उन्हें नम आंखों से अंतिम विदाई दी। वाजपेयी द्वारा गोद ली गई बेटी नमिता ने उन्हें मुखाग्नि दी। इस दौरान वहां मौजूद सभी लोग हाथ जोड़े खड़े रहे। सभी की आंखों में आंसू थे।वाजपेयी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ संपन्न किया गया।

*नातिन निहारिका को सौंपा गया तिरंगा*
नातिन निहारिका ने वाजपेयी के पार्थिव शरीर पर से तिरंगा ग्रहण किया। उस पल स्मृति स्थल पर मानों घड़ी की सुई कुछ देर के लिए थम गई, पूरा माहौल गमगीन था। बेटी, नातिन और परिवार के लोग ही नहीं स्मृति स्थल पर मौजूद हर किसी की आंखों में आंसू थे। सियासत की दुनिया का उन्हें ‘अजातशत्रु’ कहा जाता था क्योंकि उन्होंने हमेशा दोस्त बनाए, दुश्मन उनका कोई नहीं था।

खास बातें 

– पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी को उनकी दत्तक पुत्री नमिता ने मुखाग्नि दी।

– पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने दी अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि।

_ पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के पार्थिव शरीर से तिरंगा लपेट कर उनके परिजनों को सौंपा गया।

_ भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्येल ने पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी।

-स्मृति स्थल पर पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार के मौके पर मौजूद पीएम मोदी, अमित शाह, लालकृष्ण आडवाणी, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत अन्य नेता।

– भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दी पूर्व पीएम वाजपेयी को श्रद्धांजलि।

*_हामिद करजई ने दी पूर्व पीएम वाजपेयी को श्रद्धांजल‍ि*

*-बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने दी वाजपेयी को श्रद्धांजल‍ि।*

*_भूटान नरेश ने दी पूर्व पीएम वाजपेयी को श्रद्धांजल‍ि।*

– राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के साथ तीनों सेनाओं के जवान अटल जी को अंतिम सलामी दी।

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने अटल बिहारी वाजपेयी के श्रद्धांजलि अर्पित की।

– स्मृति स्थल पर पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते सेना प्रमुख विपिन रावत, नौसना प्रमुख ऐडमिरल सुनील लांबा, एयर चीफ मार्शल बीरेंद्र सिंह धनोआ।

*अटल जी की अंतिम यात्रा में पैदल शामिल हुए PM मोदी*

-स्मृति स्थल पर पहुंची अटल बिहारी की अंतिम यात्रा। थोड़ी देर में होगा अंतिम संस्कार।

– अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार में शामिल होने स्मृति स्थल पहुंचे अरविंद केजरिवाल, गुलाम नवी अाजाद, अशोक गहलोत, राजबब्बर, डॉ रमन सिंह अादि।

– पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी स्मृति स्थल पहुंचे।

– स्मृति स्थल में अटल जी का अंतिम संस्कार होगा। प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी अंतिम यात्रा में शामिल। भाजपा मुख्यालय से स्मृति स्थल के बीच चार किलोमीटर की दूरी।

– 4 बजे स्मृति स्थल पर अटल जी का अंतिम संस्कार होगा। अटल जी के अंतिम संस्कार में शामिल होने के हजारों की संख्या में लोग स्मृति स्थल पहुंचे। सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम।

– अटल जी की अंतिम यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी शामिल। वे अंतिम यात्रा के साथ पैदल स्मृति स्थल की ओर बढ़ रहे हैं।

– भाजपा मुख्यालय से पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा शुरु। पीएम नरेन्द्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी अंतिम यात्रा में मौजूद।

– मुलायम सिंह यादव ने भी भाजपा दफ्तर पहुंचकर अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

– भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामग्याल वांग्चुक ने भाजपा मुख्यालय पहुंचकर अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी उनके साथ मौजूद रहे।

– दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम सीएम मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भाजपा मुख्यालय पहुंचकर पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

– भाजपा दफ्तर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

– भाजपा मुख्यालय पहुंचा अटल जी का पार्थिव शरीर। भाजपा दफ्तर में मौजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत भाजपा के तामम नेता।

अटल की अंतिम विदाई, उमड़ा जनसैलाब

– भाजपा दफ्तर के बाहर वाजपेयी के अंतिम दर्शन के लिए उमड़े हजारों की संख्या में लोग।

– भाजपा मुख्यालय के बाहर अटल जी के अंतिम दर्शन के लिए लगी लोगों की लंबी लाइनें।

– आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडु ने वाजपेयी निवास पहुंचकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

– कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली स्थित अटल निवास पर पहुंचकर वाजपेयी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

अलविदा अटल…किसने क्या कहा?

– अटल जी के पूर्व सहयोगी सुधींद्र कुलकर्णी ने कहा, ‘मैंने 6 साल तक उनके साथ काम किया। एक प्रधानमंत्री होने बावजूद वह काफी सरल थे, उन्होंने सभी के साथ सम्मानजनक व्यवहार किया। उन्होंने एक बार कहा कि हम कश्मीर के संकट को संविधान की नहीं बल्कि मानवता की सीमाओं के भीतर हल करेंगे, इन शब्दों के साथ उन्होंने कश्मीरियों का दिल जीत लिया था।’

– सीपीआइ(एम) महासचिव सीताराम येचुरी ने कहा, ‘यह अटल जी की विशेषता थी कि उन्होंने कभी राजनीतिक और वैचारिक मतभेदों के कारण मानवता को नुकसान नहीं पहुंचाया। आज देश में इस तरह के सिद्धांतों की जरूरत है।’

– भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त डोमिनिक आस्क्विथ ने कहा, ‘वह (अटल बिहारी वाजपेयी) एक बहुत ही महत्वपूर्ण व्यक्ति थे जिनके लिए हमारे मन में बहुत सम्मान है और यह भारत के लिए एक बड़ा नुकसान है। मैं उनके जैसे बेहतरीन आदमी को अपना सम्मान देना चाहता था।’

– बांग्लादेश के विदेश मंत्री अबुल हसन महमूद अली ने कहा, ‘हम उन्हें बांग्लादेश की स्वतंत्रता में उनके योगदान और बांग्लादेश के लोगों के मजबूत समर्थन के लिए याद करते हैं। उन्हें बंगाली संगीत बहुत पसंद था। जब वह विदेश मंत्री बने तो मुझे दिल्ली में राजनयिक के रूप में सेवा करने का मौका मिला।’

– जाने-माने फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर ने कहा, ‘मैंने 2006 में एक बार उनसे (अटल बिहारी वाजपेयी) मुलाकात की थी। वह एक बहुत अच्छे वक्ता थे। भारतीय राजनीति में उनकी अनुपस्थिति को किसी और के द्वारा भरा नहीं जा सकता है, वह हर किसी के लिए एक रोल मॉडल रहे हैं और अपनी कविता, भाषण और व्याख्यान के माध्यम से कई लोगों को प्रेरित भी किया है।’

इस दुःख की घड़ी में भारत के साथ मॉरीशस

इस दुख की घड़ी में भारत के साथ मॉरीशस खड़ा हुआ है। अटल जी के निधन के शोक से मॉरीशस भी आहत है। उसने भी भारत के साथ अटल जी के सम्मान में अपने राष्ट्रीय ध्वज को आधा झुकाया है। मॉरीशस सरकार ने निर्णय लिया है कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के निधन के चलते सरकारी भवनों पर लहराता भारत और मॉरीशस का राष्ट्रीय ध्वज पर आधा झुका रहेगा।

Facebook Comments

प्रिय पाठकों,
इंडिया टाइम 24 डॉट कॉम www.indiatime24.com निष्पक्ष एवं निर्भीक पत्रकारिता की दिशा में एक प्रयास है. इस प्रयास में हमें आपके सहयोग की जरूरत है ताकि आर्थिक कारणों की वजह से हमारी टीम के कदम न डगमगाएं. आपके द्वारा की गई एक रुपए की मदद भी हमारे लिए महत्वपूर्ण है. अत: आपसे निवेदन है कि अपनी सामर्थ्य के अनुसार नीचे दिए गए बैंक एकाउंट नंबर पर सहायता राशि जमा कराएं और बाजार वादी युग में पत्रकारिता को जिंदा रखने में हमारी मदद करें. आपके द्वारा की गई मदद हमारी टीम का हौसला बढ़ाएगी.

Name - neearj Kumar Sisaudiya
Sbi a/c number (एसबीआई एकाउंट नंबर) : 30735286162
Branch - Tanakpur Uttarakhand
Ifsc code (आईएफएससी कोड) -SBIN0001872

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *