पंजाब

मानवता की सेवा के लिए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी 850 बेड वाले कोरोना केयर केन्द्र चलायेगी : मनजिंदर सिंह सिरसा

नीरज सिसौदिया, नई दिल्ली

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के अस्पतालों में बैड की बढ़ रही मांग को देखते हुए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने आज फैसला किया है कि वह मानवता की सेवा में एक और प्रयास करते हुए दिल्ली के अलग-अलग गुरुद्वारा साहिबान कांपलैक्स में 850 बेड वाले कोरोना केयर केन्द्र स्थापित करेगी जहां कम बुखार, गला खराब व अन्य कम लक्ष्ण वाले कोरोना मरीज़ों का ईलाज किया जा सकेगा। यह विचार गुरुद्वारा कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज व्यक्त किए।
इस फैसले के बारे में दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल को स. मनजिंदर सिंह सिरसा व महासचिव हरमीत सिंह कालका के हस्ताक्षर वाले एक पत्र के माध्यम से सूचित किया गया है जिसमें सरकार के बिनती की गई कि वह जरूरतमंद मरीजों को जल्दी से जल्दी राहत पहुंचाने के लिए दिल्ली गुरुद्वारा कमटी द्वारा यह यह कोरोना केन्द्र तुरंत चलाने के लिए जरूरी अनुमति प्रदान करे।
स. मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि यह केन्द्र कोरोना मरीज़ों को सर्वोत्तम मैडिकल देख-रेख, आॅक्सीजन व प्रयोगशाला सेवाएं प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी ने यह कदम राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना मरीजों में निरंतर हो रही बढ़ौतरी को देखते हुए उठाने का फैसला किया है।
स. सिरसा ने कहा कि दिल्ली गुरुद्वारा कमेटी दाखिल मरीजों के लिए सुबह का नाश्ता, दिन का पूरा भोजन, पीने के लिए पानी, आम दवाईयां, आॅक्सीजन व प्रयोगशाला सहुलियतें उपलब्ध करायेगी। उन्होंने बताया कि कमेटी ने गुरुद्वारा नानक प्याऊ में 200 बैड का केन्द्र, गुरु हरिकृष्ण यात्री निवास, गुरुद्वारा बंगला साहिब में 235 बेड के केन्द्र, गुरु अर्जन देव यात्री निवास गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में 60 बैड, गुरु हरिगोबिंद इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड इन्फार्मेशन टैक्नाॅलजी में 115 बैड, गुरु हरिकृष्ण पब्लिक स्कूल हरी नगर में 100, गुरुद्वारा दमदमा साहिब में 40, गुरु तेग बहादुर पाॅलिटेक्निक इंस्टीट्यूट में 50 व गुरु नानक सुखशाला में 50 बैड वाला कोरोना केयर केन्द्र स्थापित करने का फैसला किया है।
स. सिरसा ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अपील की है कि यह केयर सैंटर स्थापित करने के लिए जरूरी अनुमति जल्दी से जल्दी देने के आदेश जारी करें व इसके लिए जरूरी डाॅक्टरों, नर्सों व पैरामैडिकल स्टाॅफ की तैनाती भी की जाये तांकि कम बुखार वाले, गला खराब व अन्य कम लक्ष्ण वाले मरीज़ दाखिल किये जा सकें। उन्होंने यह भी कहा कि अगर किसी की तबीयत खराब होती है तो मरीज़ को दिल्ली सरकार के कोरोना अस्पतालों में भी शिफ्ट किया जा सकता है।
उन्होंने यह भी बताया कि उन्होंने दिल्ली के मुख्य सचिव श्री विजय कुमार देव से भी इस मामले के सबंध में बातचीत है जिन्होंने भरोसा दिया है कि वह जल्दी से जल्दी सरकार के समक्ष इस मामले को उठायेंगे तांकि इन केन्द्रों का जल्दी से जल्दी इस्तेमाल शुरु किया जा सके।
स. सिरसा ने यह भी बताया कि उन्होंने सांसद संजय सिंह के समक्ष भी इस मामले को उठाया है जिन्होंने बहुत ही सकारात्मक तरीके से कहा कि वह मुख्यमंत्री के आगे इस मामले को उठायेंगे ताकि लोगों की भलाई के लिए इन सहूलियतों का इस्तेमाल किया जा सके।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *