झारखण्ड

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश पर बोकारो थर्मल पहुंचे बोकारो डीसी व प्रदूषण बोर्ड के अधिकारी

बोकारो थर्मल। प्रतिनिधि
नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश पर बोकारो थर्मल बोकारो डीसी मुकेश कुमार, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वैज्ञानिक डॉ़ जीपी सिंह, झारखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पदाधिकारी आरएन चैधरी शुक्रवार को नुरीनगर स्थित डीवीसी के ऐश पौंड़ की निरीक्षण करने पहुंचे। वर्ष 2019 सितंबर माह में बीटीपीएस के एक नंबर ऐश पौंड टूट जाने के कारण आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के घरों में छाई युक्त पानी घुस गया था इस घटना के आलोक में उपायुक्त मुकेश कुमार के निर्देश पर अपर समाहर्ता विजय कुमार गुप्ता की अध्यक्षता में एक जांच टीम का गठन किया गया था। इस जांच टीम की रिपोर्ट को केंद्र तथा राज्य सरकार को भेजा गया था। शुक्रवार को उपायुक्त मुकेश कुमार की अध्यक्षता में केंद्र तथा राज्य सरकार की जांच टीमों ने बीटीपीएस के ऐश पौंड के मरम्मत कार्यों का निरीक्षण किया तथा कचरे की निकासी तथा मरम्मती कार्यों की जांच की गयी। तीन सदस्यीय जांच टीम में उपायुक्त के अलावा केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के वैज्ञानिक डॉ. जीपी सिंह तथा झारखंड प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के पदाधिकारी आरएन चैधरी मुख्य रूप से शामिल थे। जांच टीम ने ऐश पौंड़ का निरीक्षण कर उसमें व्याप्त कमियों को जल्द से जल्द सुधार करने हेतु डीवीसी प्रबंधन को निर्देश दिया।
भविष्य में इस तरह की घटना की ना हो पुनरावृत्ति: उपायुक्त मुकेश कुमार ने डीवीसी अधिकारियों से कहा कि भविष्य में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसलिए प्रबंधन द्वारा एक्शन प्लान के साथ-साथ कार्य करने पर जोर देना चाहिए। प्रबंधन के वरिष्ठ इंजीनियरों के द्वारा इस पूरे पौंड का आकलन करते हुए जमीनी स्तर पर योजनाओं का काम किया जाना चाहिए, तभी इस पौंड की सुरक्षा आसपास के ग्रामीणों के लिए बरकरार रह सकती है। निर्माणाधीन ऐश पौंड के निचले सतह से लेकर ऊपरी सतह तक मजबूती प्रदान करने की दिशा में लगातार कार्य किया जाना चाहिए, ताकि पानी के किसी प्रवाह को यह बांध मजबूती के साथ झेल सके। उन्होंने डीवीसी के अधिकारियों को निर्देश दिया कि समय-समय पर टीम गठित कर अपने स्तर से पौंड़ की वस्तुस्थिति अथवा इस में होने वाले रिसाव की जांच लगातार करते रहंे ताकि पौंड में रिसाव को समय रहते ठीक किया जा सके। केंद्र और राज्य सरकार से आई जांच टीम के सदस्यों ने बीटीपीएस तथा डीवीसी प्रबंधन को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि सुरक्षा के मापदंडों में किसी प्रकार की कोई कोताही ना बरतें ताकि इस वजह से आसपास के क्षेत्रों में रहने वाले आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़े। समय-समय पर लगातार उच्च स्तरीय टीम के माध्यम से पौंड की वस्तुस्थिति का जायजा लेते रहें। पौंड़ की सुरक्षा तथा उसके रिसाव से संबंधित रिपोर्टिंग हर दिन की जाए, हर 15 दिनों के अंतराल पर प्रतिदिन के रिपोर्टिंग का प्रतिवेदन जिला प्रशासन को उपलब्ध कराएं को कहा गया है। उपायुक्त मुकेश कुमार ने डीवीसी एवं बीटीपीएस के प्रबंधकों से कहा कि पौंड़ की सुरक्षा के दृष्टिकोण से विशेषज्ञ इंजीनियरों के अधिनस्थ एक रिर्पोटिंग टीम बनाकर प्रतिदिन रिर्पोट की जानी चाहिए ताकि पौंड़ की वस्तु स्थिति का आकलन प्रतिदिन किया जा सके। यह टीम प्रत्येक दिन पौंड के निचले सत्ता से लेकर ऊपरी सतह के सभी सुरक्षा पैमानों की जांच करते हुए किसी प्रकार के रिसाव से संबंधित रिपोर्टिंग का प्रतिवेदन प्रतिदिन प्रबंधन को समर्पित करेगी। समर्पित प्रतिवेदन हर 15 दिन पर बीटीपीएस प्रबंधन जिला प्रशासन को उपलब्ध कराऐगी।
टाइमलाइन के साथ एक्शन प्लान तैयार करें बीटीपीएस प्रबंधन
उपायुक्त मुकेश कुमार ने निरीक्षण के क्रम में बीटीपीएस प्रबंधन के पदाधिकारियों से कहा कि आगामी आने वाले दिनों में कचरे के निष्पादन हेतु किन योजनाओं पर कार्य कर रही है उसका रोड मैप तैयार कर जल्द से जल्द जिला प्रशासन को समर्पित करें। पौंड़ की मरम्मती तथा उसकी सुरक्षा हेतु किन योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है उसका टाइमलाइन के साथ एक्शन प्लान तैयार कर जिला प्रशासन को समर्पित करें, ताकि जिला प्रशासन प्रबंधन के एक्शन प्लान को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के सभी मापदंडों को प्रबंधन की मदद कर सके, ताकि भविष्य में आम लोगों को इस पौंड़ से किसी प्रकार की कोई क्षतिपूर्ति ना हो। उन्होंने प्रबंधन के लोगों से कहा कि पौंड़ में आने वाले कचरांे का निष्पादन कैसे किया जाए, उस दिशा में भी योजना बनाकर कार्य करें ताकि पौंड़ के छाई का इस्तेमाल अन्य कामों किया जा सके। उपायुक्त ने जिला खनन पदाधिकारी को निर्देश दिया कि पौंड़ के अंतर्गत होने वाले खनन की स्थिति का जायजा समय-समय पर लेते रहें। पौंड के छाई का इस प्रकार से इस्तेमाल किया जाय, इस दिशा में बीटीपीएस प्रबंधन को मार्गदर्शन करते रहें। निरीक्षण के क्रम में अपर समाहर्ता विजय कुमार गुप्ता, एसडीएम नीतीश कुमार सिंह, जिला नजारत उपसमाहर्ता प्रभाष दत्ता, बेरमो सीओ मनोज कुमार, बेरमो बीडीओ प्रवीण कुमार सहित बीटीपीएस डीवीसी के मुख्य अभियंता टी अकबर, डीजीएम एपी सिंह, अपर निदेशक नीरज कुमार सिंह, सीएसआर प्रबंधक अशोेेक कुमार तिवारी सहित कई अधिकारी उपस्थित थे।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *