देश

कोरोना काल में फिरोजपुर मंडल ने बदल दी रेलवे की तस्वीर, पढ़ें क्या-क्या किया सुधार

नीरज सिसौदिया, नई दिल्ली 

वरि. मंडल अभियंता/समन्वय ने बताया कि भारतीय रेल के ताप मानकों के अनुसार, फिरोजपुर मंडल जोन-IV में स्थित है | इस कारण मंडल में स्थित रेल की पटरियों का उच्चतम तापमान 60-70 डिग्री तक चला जाता है | इस कारण रेल की पटरियों का लोहा गर्म होकर फ़ैल सकता है | अतः रेलवे ट्रैक की निगरानी हर पल अति आवश्यक है |

फिरोजपुर मंडल में 2800 किलोमीटर रेल ट्रैक है | गाड़ियों का संचालन निर्बाध रूप से होता रहे, इसके लिए चिलचिलाती धूप में भी रेल के पटरी में निरंतर बढ़ते हुए तापमान से ट्रैक की प्रतिदिन सुरक्षा की जिम्मेदारी निभाते हुए रेलवे के प्रत्येक पेट्रोलमैन प्रतिदिन 5-6 किलोमीटर पैदल चलकर अपने क्षेत्र के रेलवे ट्रैक की पेट्रोलिंग करते है | जब दिन के समय (12 से 3 बजे के बीच) तापमान उच्चतम स्तर पर होता है तब उनके द्वारा यह कार्य अत्यधिक सावधानीपूर्वक किया जाता है |

पहले ऐसे चलती
पहले ऐसे चलती थीं फिरोजपुर मडंल में ट्रेनें

झुलसती गर्मी में लगभग 10 किलोग्राम औजारों के साथ गर्म होती पटरियों एवं उनकी फिटिंग के रख-रखाव में पेट्रोलिंग का कार्य पुराने समय में भाप के इंजन में कोयला झोंकने से भी 10 गुना अधिक थकाने वाला तथा पसीना बहाने वाला श्रम है | इसके साथ ही गाड़ियों की सुरक्षा एवं आने-जाने वाली गाड़ियों से खुद की सुरक्षा के साथ ही स्टेशन मास्टर एवं लोकोपायलट्स के बीच एक महत्वपूर्ण कड़ी के रूप में पेट्रोलमैन अपनी जी-जान लगाकर भारतीय रेल की सेवा कर रहे हैं |

मंडल के इंजीनियरिंग विभाग द्वारा प्रतिदिन ट्रैक मशीन से लगभग 5 किलोमीटर ट्रैक की ब्लास्ट-पैकिंग तथा लगभग 10 किलोमीटर ट्रैक की ब्लास्ट कर सुदृढ़ीकरण किया जा रहा है | ट्रैक द्वारा उच्च तापमान को सहन करने के लिए एक औसत तापमान पर लगभग 327 किलोमीटर ट्रैक की जाँच के पश्चात् इसे तनावमुक्त किया जा चुका है | साथ ही 6687 किलोमीटर ट्रैक का एक विशेष कम्पनमापक यन्त्र द्वारा जाँच करके गाड़ियों की सुचारू रूप से आवागमन को सुनिश्चित किया गया |फिरोजपुर मंडल ने पहल करते हुए कोरोना काल में, ट्रैक के निरिक्षण हेतु मंडल के पांच बड़े स्टेशनों लुधियाना, फिरोजपुर कैंट, जालंधर सिटी, अमृतसर तथा जम्मू तवी पर स्टाफ स्पेशल चलाकर प्रत्येक महीने लगभग 1150 किलोमीटर ट्रैक का निरिक्षण सुनिश्चित किया है| लॉकडाउन के दौरान सड़क यातायात बंद होने की सुविधा मिलने पर सभी व्यस्तम फाटकों के ट्रैक की मरम्मत भी कर दी गयी जो कि सामान्य परिस्तिथियों में इन फाटकों को बंद कराना संभव नहीं हो पाता |

मंडल रेल प्रबंधक राजेश अग्रवाल के द्वारा सभी सुरक्षा से जुड़े रेलकर्मियों के कार्यों की सराहना करते हुए यात्रियों की सुविधाजनक यात्रा के प्रयासों में अग्रसर रहने के लिए इन सभी के प्रशंसनीय योगदान का आभार व्यक्त किया | इनके सराहनीय प्रयासों से ये रेलकर्मी कोरोना योद्धाओं के समान रेल की सुरक्षा एवं संरक्षा को सुनिश्चित कर रहे है तथा कोरोना काल में, फिरोजपुर मंडल खाधान्न लोडिंग के उच्चतम स्तर को प्राप्त करने में सफल रहा है |

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *