झारखण्ड

झुमरा पहाड़-ऊपरघाट- पारसनाथ पहाड़ में जुटेंगे शीर्ष माओवादी, शुक्रवार से मनाएंगे दमन विरोधी सप्ताह

बोकारो थर्मल। रामचंद्र कुमार अंजाना
नक्सली संगठन भाकपा माओवादी 26 जून से 53वाॅ दमन विरोधी सप्ताह मनाऐंगे। दमन विरोधी सप्ताह के दौरान नक्सली हिंसक घटनाओं को अंजाम दे सकते है। नक्सली सरकारी प्रतिष्ठानों और विभागों को अपना टारगेट बनाते है। जिसमें रेल, पुलिस और सुरक्षा बल शामिल है। दमन विरोधी सप्ताह को लेकर झुमरा पहाड़-ऊपरघाट-पारसनाथ पहाड़ में शीर्ष नक्सलियों की जुटान होगी। दमन विरोधी सप्ताह के दौरान नक्सलियों द्वारा आईईडी विस्फोटक एवं बारूदी सुरंग विस्फोट कर दहशत भी फैला सकते है। नक्सलियों के दमन विरोधी सप्ताह मनाने की सूचना को लेकर बोकारो पुलिस अलर्ट हो गयी है। झुमरा पहाड़ और ऊपरघाट के इलाकों में सीआरपीएफ जवानों के साथ पुलिस की संयूक्त टीम अभियान चला रहीं है।
दमन विरोधी सप्ताह क्यों मनाते है नक्सली: 25 मई 1967 में सिलीगुड्डी से 22 किलोमीटर दूर नक्सलबाड़ी बेंगाईजोत में जोतदारों के हक में सशस्त्र आंदोलन का शुभारंभ हुआ था। इस आंदोलन को कुचलने के लिए 16 जुलाई 1972 को चारु मजूमदार को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। आश्चर्य की बात है कि उन्हें कोर्ट में भी पेश नहीं किया गया। 28 जुलाई 72 को उनको मृत घोषित कर दिया गया। उनकी मौत कैसे हुई अब भी रहस्य है। 5 अगस्त 1971 को नक्सली आंदोलन के राज्य सचिव सरोज दत्त को कोलकाता मैदान में गला काटकर मार डाला गया। इसे फिल्म अभिनेता उत्तम कुमार ने अपनी ऑखों से देखा था। इसी प्रकार काशीपुर बरानगर में 1971 को सीआरपीएफ से 150 युवाओं को मरवा दिया गया। यह घटना 12 व 13 अगस्त को घटित हुई थी। इन घटनाओं के बाद अपने अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले नक्सली दमन विरोधी सप्ताह मनाते आ रहें है।
झुमरा पहाड़ और ऊपरघाट में 70-80 के दशक में नक्सली बीज बोया गया था: बोकारो जिले के झुमरा पहाड़ व ऊपरघाट में सांमतवाद व सूदखोरों के खिलाफ नक्सली बीज बोया गया था। 90 के दशक आते-आते नक्सली आंदोलन का ट्रेड एक दम सा बदल गया। नक्सली आंदोलन खूनी खेल में तब्दील हो गयी थी। खूनी खेल के भय से सांममवाद, सूदखोर, सेठ व महाजन अपना बोरिया-बिस्तर समेटकर शहर की और दूर प्रदेश में रहने लगे। इसके बाद पुलिस से नक्सलियों का सीधा लड़ाई शुरू हुई, जो निरंतर आज भी जारी है।
बेरमो एएसपी अभियान उमेश कुमार ने कहा कि दमन विरोधी सप्ताह नक्सलियों के द्वारा मनाने की सूचना है। पुलिस सर्तक है। संभावित क्षेत्रों में अभियान चलाया जा रहा है।

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *