विचार

कैसे पायें अवसाद, तनाव एवं अतीत की बुरी यादों से छुटकारा

एसके कपूर “श्रीहंस” किसी के घटना या व्यक्ति के साथ आपका कटु अनुभव, आपके मनोस्थिति को खराब कर सकता है। यह अचानक होता है और अगर आप इससे मुक्त नहीं होते ,तो यह लंबे समय के लिए आपके दिमाग को बुरी तरह जकड सकता है। इसका आप पर ज्यादा कुप्रभाव हो भी सकता है। अगर […]

विचार

हर धड़कन मे हिंदी, हिन्द हिंदुस्तान चाहिये

हर रंग से भी रंगीन हिंदुस्तान चाहिये। खिले बागों बहार गुलिस्तान चाहिये।। चाहिये विश्व में नाम ऊँचा भारत का। विश्व गुरु भारत का सम्मान चाहिये।। मंगल चांद को छूता भारत महान चाहिये। अजेयअखंड विजेता हिंदुस्तान चाहिये।। दुश्मन नज़र उठाकर देख भी ना सके। हर शत्रु का हमको काम तमाम चाहिये।। हमें गले मिलते राम और […]

विचार

स्वर्ग से भी सुंदर धरती पर संसार चाहिये

हर दिल में प्यार का उपहार चाहिये। एक दूजे से जुड़ा हुआ सरोकार चाहिये।। चाहिये जीने का हक़ हर किसी के लिए। प्रेम की डोरी में बंधा संसार चाहिये।। महोब्बत का बहता सैलाब चाहिये। भावनाओं से भरा हुआ फैलाब चाहिये।। चाहिये प्यार से ही प्यार रिश्ता हमको। दुनिया में कोई नहीं हमें दुराब चाहिये।। एक […]

विचार

प्रकृति, मानवता की प्राणवायु

हर इक़ घर हरा भरा घर हो। प्रकृति की रखवाली से खरा घर हो।। प्रकृति जीवनदायिनी ये सत्य जान लें। प्रकृति की खुशहाली से जड़ा घर हो।। वृक्ष जैसेअमृतपुत्र लक्ष्य इनका महान है। वृक्षों से मिलती प्राणवायु जैसे वरदान है।। जब मिले अवसर पौधरोपण जरूर करें। मानवता को मिलता इससे जीवनदान है।। प्रकृति सुरक्षित तो […]

विचार

हर दिल में बसता हिंदुस्तान है हिंदी…

हम सबका हर पल हर क्षण हिंदी के साथ हो। हिंदी हमारी मातृ भाषा उसके हाथों में हाथ हो।। प्रत्येक प्रयास हो हिंदी में ही कार्य करने का। हिंदी की बिंदी ही भारत माता के माथ हो।। निज भाषा से कार्य में ही राष्ट्र उत्थान निहित है। निज भाषा मान में ही देश का गौरवगान […]

विचार

हिंदी हिन्द की बन चुकी पहचान है…

सरल सहज सुगम भाषा वो बोली हिंदी है। सौम्य और सुबोध आशा वो बोली हिंदी है।। आत्मीय अभिव्यक्ति है उसका प्राण। सुंदर और सभ्य परिभाषा वो बोली हिंदी है।। संस्कृति संस्कार की वो एक फुलवारी है। हिंदी बहुत मधुर भाषा वो तो जग से न्यारी है।। भारत लाडली वीरता की है गौरवगाथा। हिंदी ह्रदय की […]

विचार

प्रेम की नज़र है तो फिर मुस्कराती हुई आबाद है जिन्दगी

जियो तो खुशियों की मीठी सौगात है जिन्दगी। जी कर देखो अच्छी यादों की बारात है जिन्दगी।। ढूंढो हर पल में खुशियों के लम्हें तुम। प्रेम की नज़र से देखो मुस्काती हर बात है जिन्दगी।। जिन्दगी और कुछ नहीं बस जज्बात है जिन्दगी। तुम्हारे अपनी मेहनत की ही करामात है जिन्दगी।। भाईचारे की मीठी जुबान […]

विचार

जिन्दगी जियो कुछ अंदाज़ और कुछ नज़रअंदाज़ से

जिन्दगी रोज़ थोड़ी थोड़ी सी व्यतीत हो रही है। कुछ कुछ जिन्दगी रोज़ ही अतीत हो रही है।। जिन्दगी जीते नहीं आज हमें जैसी जीनी चाहिये। कल आएगी मौत सुनकर बस भयभीत हो रही है।। कांटों से कर लो दोस्ती गमों से भी याराना कर लो। हँसने बोलने को कुछ न कुछ तुम बहाना कर […]

यूपी

भगवद गीता उपदेशक भगवान…

करावास में जन्म लिया और कंस का नाश किया। भागवतगीता दियाउपदेश कौरवों का भी विनाश किया।। रच कर रासलीला भी तुम तो निच्छल प्रेमप्रतीक बने। लेकर अवतार विष्णु द्वापर में सृष्टि नवविन्यास किया।। बने गोवर्धन धारी वृंदावन को बचाया इंद्रवर्षा से। बन कर भी द्वारिकाधीश मिले सुदामा को हर्षा से।। अखिल ब्रह्मांडआलोकित हुआ प्रेम व्यवस्था […]

विचार

एसके कपूर की कविताएं : रक्षाबंधन..

नहीं खंडित हो कभी, ये भाई बहन का प्यार। विस्तार तो हैअनंत इसका, महिमा भी अपरम्पार।। स्नेहप्रेम का बंधन यह नहीं, केवल एक रक्षा सूत्र। बस एक धागे में पिरो दिया, वचनबद्धता का संसार।। भाई बहन के प्रेम स्नेह, का प्रतीक है रक्षा बंधन। एक सूत्र की ताकत का, ये यकीन है रक्षा बंधन।। सदियों […]